झांसी के अर्शप्रीत का कमाल, A3 शीट पर 70 क्रिकेटर्स का बनाया स्‍केच, 3 रिकॉर्ड्स हुए नाम

2 days ago

झांसी शहर में रहने वाले 13 साल के अर्शप्रीत ने सबसे कम समय में एक A3 शीट पर 70 भारतीय क्रिकेटरों के स्केच बनाकर 3 रिकॉर्ड हासिल कर लिए हैं. उनकी इस ड्राइंग को इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स और इंटरनेशनल बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में जगह मिली है.

अधिक पढ़ें ...

News18 Uttar PradeshLast Updated : June 23, 2022, 16:38 IST

(रिपोर्ट – शाश्वत सिंह)

झांसी. कहते हैं कि हुनर की कोई उम्र नहीं होती, कई बार छोटे बच्चे भी बड़ा कमाल कर देते हैं. ऐसा ही एक कमाल करके दिखाया है झांसी शहर में रहने वाले 13 साल के अर्शप्रीत ने. इस बच्‍चे ने अपनी ड्रॉइंग क्रिएटिविटी से अपना नाम रोशन कर दिया है. अर्शप्रीत ने सबसे कम समय में एक A3 शीट पर 70 भारतीय क्रिकेटरों के स्केच बनाकर 3 रिकॉर्ड्स हासिल कर लिए हैं. इसके साथ उसने इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स और इंटरनेशनल बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में अपना नाम दर्ज करा लिया है.

अर्शप्रीत ने बताया कि पहले उन्हें क्रिकेट खेलने का शौक था, लेकिन लॉकडाउन के दौरान जब उनका क्रिकेट खेलना बंद हो गया तो अपने पिता के सुझाव पर उन्होंने समय काटने के लिए ड्राइंग करना शुरू कर दी. उन्होंने पहली ड्राइंग सरदार भगत सिंह की बनाई. धीरे-धीरे उन्हें इसमें इंटरेस्ट आने लगा और वह मन लगाकर ड्राइंग करते रहे. जबकि झांसी के राजकीय संग्रहालय में लगी पहल प्रदर्शनी में उनकी ड्राइंग को काफी सराहा गया जिससे उन्हें प्रोत्साहन मिला.

बना चुके हैं कई दिग्गजों के स्केच
अर्शप्रीत रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी समेत कई राजनेताओं और अधिकारियों की स्केच बनाकर उन्हें गिफ्ट कर चुके हैं. वह कहते हैं कि सबसे पहले उन्होंने अपनी एक दोस्त के पास इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स का सर्टिफिकेट देखा था. वहां से उन्होंने इसके बारे में जानकारी ली. घर आकर अपने पापा की मदद से उन्होंने अप्लाई किया. एक रिकॉर्ड बनने के बाद उन्होंने एशिया और इंटरनेशनल रिकॉर्ड के लिए भी अप्लाई किया. फॉर्म भरने के बाद उनसे वीडियो प्रूफ मांगे गए. वीडियो प्रूफ मिलने के बाद सर्टिफिकेट और मेडल उन्हें भेज दिया गया.

अपने शौक को बनाएंगे करियर
अर्शप्रीत खुशी के साथ बताते हैं, ‘उन्होंने कभी सोचा नहीं था कि टाइम पास के लिए शुरू किया गया शौक उन्हें रिकॉर्ड होल्डर बना देगा.’ वो अब फाइन आर्ट्स को ही अपना करियर बनाना चाहते हैं.12वीं कक्षा पास करने के बाद वह फाइन आर्ट्स कोर्स में एडमिशन लेकर पीएचडी तक की पढ़ाई करना चाहते हैं.

अगर आप भी हैं हुनरमंद, तो कर सकते हैं अप्लाई
अर्शप्रीत ने बताया कि अगर किसी भी व्यक्ति के पास कोई भी हुनर है तो वह भी रिकॉर्ड्स के लिए अप्लाई कर सकता है. इंडिया रिकॉर्ड के लिए www.indiabookofrecords.in, एशिया रिकॉर्ड के लिए www.asiabookofrecords.com और अंतर्राष्ट्रीय रिकॉर्ड के लिए www.internationalbookofrecords.com पर अप्लाई कर सकते हैं. अप्लाई करने के बाद आपसे वीडियो प्रूफ मांगे जायेंगे. सभी फैक्ट्स की जांच के बाद आपका सर्टिफिकेट और मेडल आपके घर पहुंच जाता है.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी | आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी |

Tags: Jhansi news

FIRST PUBLISHED :

June 23, 2022, 16:32 IST

Read Full Article at Source