'ज़बान ठीक रखोगे, तो स्वाद भी ठीक रहेगा' : हिंदी और गोलगप्पे वाले बयान पर कुमार विश्वास का तंज

1 week ago

 कुमार विश्वास ने लिखा, "हम सब तो दक्षिण के अपने भाई-बहनों की स्वाद ग्रंथियों को ऊर्जा देने वाले गोलगप्पे बेचकर भी बहुत खुश हैं और इसी मां हिंदी की कृपा से हिंदी की ही कविता सुनाने चार्टर प्लेन से यात्रा करते हुए चार्टर में गोलगप्पे खाकर भी तृप्त हैं."

Kumar Vishwas : कुमार विश्वास ने लिखा, "हम सब तो दक्षिण के अपने भाई-बहनों की स्वाद ग्रंथियों को ऊर्जा देने वाले गोलगप्पे बेचकर भी बहुत खुश हैं और इसी मां हिंदी की कृपा से हिंदी की ही कविता सुनाने चार्टर प्लेन से यात्रा करते हुए चार्टर में गोलगप्पे खाकर भी तृप्त हैं."

Kumar Vishwas : कुमार विश्वास ने लिखा, "हम सब तो दक्षिण के अपने भाई-बहनों की स्वाद ग्रंथियों को ऊर्जा देने वाले गोलगप्पे बेचकर भी बहुत खुश हैं और इसी मां हिंदी की कृपा से हिंदी की ही कविता सुनाने चार्टर प्लेन से यात्रा करते हुए चार्टर में गोलगप्पे खाकर भी तृप्त हैं."

अधिक पढ़ें ...

News18HindiLast Updated : May 14, 2022, 22:12 ISTEditor default picture

नई दिल्ली. हिंदी सीखने वालों पर टिप्पणी करने के लिए तमिलनाडु के उच्च शिक्षा मंत्री के. पोनमुडी पर जाने-माने कवि कुमार विश्वास ने तंज कसा है. हिंदी सीखने वालों के लिए नौकरी उपलब्ध होने के संबंध में जोर देने वालों पर निशाना साधते हुए मंत्री ने पूछा था कि अभी शहर में ‘पानी पुरी’ कौन लोग बेच रहे हैं. दरअसल, उनका इशारा स्पष्ट रूप से इस पेशे में शामिल मुख्यतया हिंदी भाषी विक्रेताओं की ओर था. इसी पर पलटवार करते हुए कुमार विश्वास ने फेसबुक पोस्ट लिखा और कहा कि हम तो गोलगप्पे बेचकर भी बहुत खुश हैं.

कुमार विश्वास ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा, “हमारी तमिल मौसी के प्रिय पुत्र भाई के. पोनमुडी जी. हम हिंदी मां के बेटे-बेटियां तो हर हाल में गौरवान्वित हैं कि भारतीय-भाषाओं के यशस्वी परिवार में जन्म मिला. हम सब तो दक्षिण के अपने भाई-बहनों की स्वाद ग्रंथियों को ऊर्जा देने वाले गोलगप्पे बेचकर भी बहुत खुश हैं और इसी मां हिंदी की कृपा से हिंदी की ही कविता सुनाने चार्टर प्लेन से यात्रा करते हुए चार्टर में गोलगप्पे खाकर भी तृप्त हैं.”

उन्होंने आगे लिखा, “तमिल बेहद समृद्ध और विकसित भाषा है. आपको तो गौरवान्वित होना चाहिए कि हम और आप ऐसे भाषा-परिवार का अंग हैं और हां के. पोनमुडी भाई हम सब लोग अपने क्षेत्रों में इडली-डोसा बनाने वाले सभी दक्षिणी बंधुओं को प्यार व आदर से ‘अन्ना’ कहते हैं. ज़बान ठीक रखोगे भाई, तो स्वाद भी ठीक रहेगा.”

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी | आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी |

Tags: Hindi, Kumar vishwas

FIRST PUBLISHED :

May 14, 2022, 22:12 IST

Read Full Article at Source