Cyclone Jawad Live Updates: उत्तरी आंध्र के ज्यादातर तटीय इलाकों में बारिश के आसार

1 month ago

आज शाम उत्तरी आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों में बारिश की आशंका जताई गई है.(सांकेतिक तस्वीर)

आज शाम उत्तरी आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों में बारिश की आशंका जताई गई है.(सांकेतिक तस्वीर)

Cyclone Jawad Live Updates: मौसम विभाग ने बताया कि उत्तरी तटीय आंध्र प्रदेश और दक्षिणी तटीय ओडिशा में शुक्रवार शाम तक बहुत भारी वर्षा शुरू होने की संभावना है तथा शनिवार को बारिश की तीव्रता बढ़ने के आसार हैं. अंडमान सागर के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र 30 नवंबर को बना था. विभाग ने बताया कि यह दो दिसंबर को अवदाब में और शुक्रवार सुबह एक गहरे अवदाब में बदल गया. आईएमडी ने बताया कि यह शुक्रवार दोपहर चक्रवात में तब्दील हो गया.

अधिक पढ़ें ...

News18HindiLast Updated : December 03, 2021, 15:53 IST

नई दिल्ली. बंगाल की खाड़ी में हवा के निम्न दबाव का क्षेत्र चक्रवाती तूफान ‘जवाद’ में तब्दील हो गया है. भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. आईएमडी ने बताया कि चक्रवात के शनिवार सुबह उत्तरी आंध्र प्रदेश और ओडिशा तट के पास पश्चिमी-मध्य बंगाल की खाड़ी पहुंचने की संभावना है. इसके बाद यह ओडिशा और निकटवर्ती आंध्र प्रदेश के तट के पास उत्तर-पूर्वोत्तर की ओर बढ़ेगा और पांच दिसंबर को दोपहर तक पुरी के आसपास के तट पर पहुंचेगा.

आईएमडी ने बताया कि उत्तरी तटीय आंध्र प्रदेश और दक्षिणी तटीय ओडिशा में शुक्रवार शाम तक बहुत भारी वर्षा शुरू होने की संभावना है तथा शनिवार को बारिश की तीव्रता बढ़ने के आसार हैं. अंडमान सागर के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र 30 नवंबर को बना था. विभाग ने बताया कि यह दो दिसंबर को अवदाब में और शुक्रवार सुबह एक गहरे अवदाब में बदल गया. आईएमडी ने बताया कि यह शुक्रवार दोपहर चक्रवात में तब्दील हो गया.

आंध्र के इन इलाकों में जारी चेतावनी
आंध्र प्रदेश के श्रीकाकुलम, विजयनगरम और विशाखापत्तनम जिलों में शनिवार के लिए चेतावनी जारी की गई है. ओडिशा के गजपति, गंजाम, पुरी, जगतसिंहपुर जिलों के लिए भी चेतावनी जारी की गई है. चक्रवात का नाम ‘जवाद’ सऊदी अरब ने प्रस्तावित किया है.

इस तूफान के चलते आंध्र सरकार ने तीन उत्तरी तटीय जिलों में अधिकारियों को हाई अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए हैं. 3 से 5 दिसंबर के बीच मछुआरों को भी पश्चिम मध्य और उत्तर पश्चिम बंगाल की खाड़ी में नहीं जाने की सलाह दी गई है.

हवाओं की रफ्तार 70-90 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंच सकती है
आंध्र प्रदेश राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के आयुक्त के कन्ना बाबू ने कहा कि शुक्रवार रात से बंगाल की खाड़ी के तट पर 45-65 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से हवाएं चलने की संभावना है और शनिवार सुबह तक इन हवाओं की रफ्तार 70-90 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंच सकती है. चक्रवाती तूफान के परिणामस्वरूप उत्तरी तटीय जिलों में विभिन्न स्थानों पर मध्यम से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है.

जवाद के कारण मौसम में बदलाव पूरब से लेकर पश्चिमी यूपी तक देखने को मिल रहा है. फिलहाल हल्की बारिश की सूचना लखनऊ के ही कुछ इलाकों से आई है, लेकिन आज पास के कई जिलों में बारिश हो सकती है. रुहेलखंड के कुछ इलाकों को छोड़ दें तो पूरे यूपी में बादल छाए हुए हैं. उधर बिहार की सीमा से लगे जिलों में भी मौसम का वैसा बदलाव अभी तक देखने को नहीं मिला है.

पढ़ें ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi. हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

Read Full Article at Source